भारतीय Chutnefy: ₹50 लाख प्रतिमाह कमाकर विदेश में बनी Indian Chutnefy!

4
Chutnefy

पचास लाख रुपये प्रति महीने का मूल्य रखने वाली चेन्नई की सबसे बड़ी ब्रांड Chutnefy, प्रसन्न नटराजन और श्रेया राघव की कंपनी है. 2022 में स्थापित, Chutnefy अपने ग्राहकों को पूर्ण रूप से प्राकृतिक प्रिजर्वेटिव फ्री और कई प्रकार की चटनी का अनूठा संगम देती है। यह कंपनी अपने आप में एक अग्रणी संस्था बन गई है। यह भारत में उत्पादित चटनी को एब्रॉड में बेचकर 50 लख रुपए प्रति मंथ कमाने में पूरी तरह से सक्षम है।

Chutnefy’s Founders are Worth 50 Lakh Every Month

पचास लाख रुपये प्रति महीने की Chutnefy कंपनी के फाउंडर्स में से एक है प्रसन्न नटराजन. उन्होंने ऑस्ट्रेलियन नेशनल यूनिवर्सिटी से एमबीए किया है और बहुत लंबे समय से एंटरप्रेन्योरशिप क्षेत्र में कुछ अलग करना चाहता था. शायद इसी वजह से आज उन्होंने यह कारनामा किया और दिखाया कि उनकी कंपनी Chutnefy जो कि

Chutnefy

Launch of a 50 Lakh Monthly Revenue Company Called Chutnefy

वह 2005 में भारत वापस आए और एक सफल क्राफ्ट स्पिरिट कंपनी की स्थापना की, जो 50 लाख रुपये प्रति महीने थी. गोवा में उसने यह कंपनी सेटअप की. सीरियस राघव, जो पहले बैंकर था, अब चटनी फाई कंपनी के लिए पूरी तरह से समर्पित है और दिन-रात काम करता है।

The Company’s Mission at Chutnefy, Valued 50 Lakh per Month

उन्हें पता चला कि बाजार में बहुत सारे उत्पाद हैं जो केवल पेरी पेरी सॉस पर केंद्रित हैं। अब तक चटनी की कोई भी श्रृंखला इतनी लोकप्रिय नहीं हुई है, इसलिए उन्होंने सोचा कि इस क्षेत्र में हाथ आजमाया जाए और देखें कि इसमें क्या किया जा सकता है। श्रेयस ने भी इस विचार को बहुत अच्छे से समझा और बैंकिंग करियर छोड़कर अपने सपने को पूरा करने में लग गया. उन्होंने दो वर्ष पहले तमिलनाडु के Ambattur में एक रिसर्च और डेवलपमेंट सेंटर में अपने लक्ष्य को पूरा करने के लिए दिन-रात काम किया. इस सेंटर में विभिन्न वैज्ञानिकों, टेक्नोलॉजिस्टों और खाद्य विशेषज्ञों ने चटनी बनाने की प्रक्रिया पर

Chutnefy

वर्तमान में कम्पनी एक विस्तृत चटनी श्रृंखला प्रदान करने में सक्षम है यहां पांच प्रकार की चटनी मिलती हैं, और दूसरी श्रेणी में चौबीस भारतीय चटनी मिलती हैं, जैसे पीनट चटनी, स्पाइसी अनियन और करी लीव. इस समय कंपनी भारत के अलावा यूके, सिंगापुर, यूएस, कनाडा और जर्मनी भी बेचती है। यह इन देशों के लिए व्यापक रूप से काम कर रहा है ताकि वे अपने बिजनेस को और आगे बढ़ा सकें।

Better India की रिपोर्ट के अनुसार, कंपनी ने 50 लाख रुपये प्रति मंथ चटनी बेची है। यह कंपनी भविष्य में चटनी से आगे जाकर खाद्य क्षेत्र में भी कई उत्पाद बेचने वाली है।

Chutnefy

Conclusions from the Enterprise Chutnefy, Worth 50 Lakh Each Month

chutnefy.com, एक 50 लाख रुपये प्रति महीने की कंपनी, इन दो दोस्तों की लड़ाई ने उन्हें आज इतना मजबूत बना दिया कि कोई दूसरा ब्रांड इसके मुकाबले नहीं है। ऐसे ही स्टार्टअप में आप भी शामिल हो सकते हैं। यदि आप अपनी क्षमता को सही ढंग से उपयोग करते हैं, तो आप अपने सपनों को साकार कर सकते हैं और एक खुशहाल जीवन जी सकते हैं। ऐसे ही नवोदित उद्यमियों और उद्यमियों से संबंधित जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारे वेबसाइट पर नियमित रूप से जुड़े रहे, धन्यवाद!

चटनी पर किए कई एक्सपेरीमेंट

प्रीति और श्रेयस ने चटनी बनाने के लिए बहुत कुछ किया और बहुत जायके वाली चटनी बनाई। कुछ कामयाब रहे, जबकि कुछ बेकार रहे। 2022 में, उन्होंने चटनीफाई (Chutnefy) ब्रांड की शुरुआत की, जो इस प्रयास में अच्छी तरह से काम किया।
चटनीफाई की चटनियाँ घर में बनाई गई सबसे अच्छी हैं क्योंकि वे ताजा, ऑथेंटिक और स्वादिष्ट हैं। लेकिन वे बहुत जल्दी तैयार हो जाते हैं। यदि आप इनका पैकेट घर लाएं तो बस पानी मिलाकर अपनी पसंदीदा टेस्ट की चटनी पांच सेकंड में बना सकते हैं।

कितनी कर रहे कमाई

समाचार पत्र बेटर इंडिया के अनुसार प्रसन्ना और श्रेयस की चटनीफाई हर महीने 50 लाख रुपये, या सालाना 6 करोड़ रुपये कमाती है। उनके उत्पादों को अमेरिका, यूके, जर्मनी, सिंगापुर और कनाडा में बेचा जाता है।

Also Read: “Kiwi Wine Business” से सरकारी नौकरी छोड़कर कमाए सालाना 12 करोड़ रुपए की रेवेन्यू

Also Read: Sridhar Vembu: नौकरी छोड़कर अपना व्यवसाय शुरू किया! आज वो Zoho Corp के फाउंडर और हैं करोड़ों के मालिक

Also Read: Aman Gupta Biography: कौन हैं “BOAT” को बनाने वाले यह शख्स? उनकी जीवनी विस्तार से जानें

Also Read: LendingKart: ₹1200 करोड़ के टर्नओवर वाले स्टार्टअप की शुरुआत, लंदन में नौकरी छोड़ी

About The Author