Sridhar Vembu: नौकरी छोड़कर अपना व्यवसाय शुरू किया! आज वो Zoho Corp के फाउंडर और हैं करोड़ों के मालिक

3
Sridhar Vembu

Sridhar Veembu: Sridhar Vembu ने फिल्म 3-इडियट्स में मशहूर कहावत, “सफलता के पीछे मत भागो, काबिल बनो, तुम्हें सफलता जरूर मिलेगी”, को साबित किया है। ज़ोहो कॉर्प नामक सॉफ्टवेयर विकास कंपनी के संस्थापक Sridhar Vembu ने अमेरिका में अपनी कंपनी चलाने के बाद भी तमिलनाडु में एक स्कूल खोला।

Sridhar Vembu ने पीएचडी करने के बाद सैन डिएगो में क्वालकॉम में दौड़ना शुरू किया। उन्होंने लगभग दो साल तक दौड़ने के बाद अपनी नौकरी छोड़ दी। उन्हें एक सॉफ्टवेयर प्रोग्राम प्रोजेक्ट एडवेंट नेट था, जिससे उन्होंने अपना व्यवसाय शुरू किया था।

उसकी कड़ी मेहनत ने पहले वास्तविक वर्ष में 500 मिलियन डॉलर की बिक्री की। आज इस सॉफ्टवेयर का उपयोग 18 मिलियन से अधिक लोग करते हैं। लेकिन Sridhar Vembu (Sridhar Vembu) को अब यह साहसिक काम करना आसान नहीं है। तो आइए उनके जीवन के प्रेरक सफर को जानते हैं।

कौन हैं Sridhar Veembu?

1968 में चेन्नई में एक साधारण परिवार में जन्मे श्रीधर वेम्बू को शुरू से ही पढ़ाई में रुचि थी। उन्होंने स्कूल में सिर्फ तमिल बोली। उन्हें मद्रास इंटरनेशनल इंजीनियरिंग कॉलेज में एडमिशन मिल गया क्योंकि वे पढ़ाई में तेज थे। यहां से ग्रेजुएशन करने के बाद वे इलेक्ट्रॉनिक क्षेत्र में करियर बनाना चाहते थे। लेकिन उन्होंने कंप्यूटर विज्ञान में करियर बनाया। श्रीधर ने शिक्षा के लिए विदेश गया। श्रीधर वेम्बू ने 1989 में प्रिंसटन विश्वविद्यालय से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में डॉक्टरेट की डिग्री हासिल की।

Sridhar Vembu
———- कौन हैं Sridhar Veembu? ———-

1968 में चेन्नई में एक साधारण परिवार में जन्मे Sridhar Vembu ने शुरू से ही पढ़ाई में दिलचस्पी दिखाई। उन्हें सिर्फ तमिल भाषा सिखाया गया था। वे आईआईटी मद्रास में प्रवेश पाए क्योंकि वे शुरू से ही पढ़ाई में अच्छे थे।यहां से ग्रेजुएशन करने के बाद डिजिटल क्षेत्र में करियर बनाना उनका लक्ष्य था। लेकिन उन्होंने लैपटॉप इंजीनियरिंग में अपना करियर बनाया। श्रीधर शिक्षा के लिए विदेश गए। Sridhar Vembu ने 1989 में प्रिंसटन विश्वविद्यालय से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में डॉक्टरेट किया।

ऐसे ही समाज सेवा का लक्ष्य प्राप्त हुआ

श्रीधर ने अपने पीएचडी शोध में राजनीतिक प्रौद्योगिकी और अर्थशास्त्र में बहुत रुचि दिखाई। उन्हें अपने अध्ययन के दौरान पता चला कि समाजवाद भारत में आज भी सबसे बड़ी समस्या है और इसे ठीक करना चाहिए। फिर उन्होंने ये काम करने लगे। 

Sridhar Vembu

नौकरी छोड़कर खुद का एक व्यवसाय शुरू किया

Sridhar Vembu ने पीएचडी करने के बाद सैन डिएगो में क्वालकॉम में काम करना शुरू किया। उन्होंने लगभग दो वर्षों तक काम करने के बाद व्यवसाय को छोड़ दिया। बाद में वह भारत वापस आया और एडवेंट नेट नामक एक सॉफ्टवेयर प्रोग्राम प्रोजेक्ट में काम करने लगा। खेल से बाहर निकलने के उनके निर्णय से कई लोग हैरान हैं। लेकिन उन्होंने अपना खुद का उद्यम चलाने का फैसला किया। कड़ी मेहनत के बाद, वे सौ से अधिक ग्राहक पाए। लेकिन उन्हें 2000 में कुछ नया करने का विचार आया।

ऐसे ही Sridhar Vembu ने ज़ोहो (Zoho) की शुरुआत 

कुछ नया करने की इच्छा से। इसके पहले साल में श्रीधर ने 500 मिलियन डॉलर की बिक्री की। Zoho Suite के साथ, एजेंसियाँ केवल 10 डॉलर प्रति महीने के लिए अपने क्रेता डेटिंग नियंत्रण को सुधार सकती हैं। आज १८ मिलियन से अधिक लोग इसका उपयोग करते हैं। करोड़ों रुपये की कंपनी बनाने के बावजूद Sridhar Vembu ने अपने गाँव के लोगों के लिए कुछ करने का फैसला किया। आज वह गांव में प्रशिक्षण बेचने में लगे हुए हैं।

वे युवा लोगों को निःशुल्क प्रशिक्षण दे रहे हैं, ताकि वे अपने जीवन में सुधार कर सकें। उनका लक्ष्य लोगों को सक्षम बनाने के लिए गांव के स्कूलों में एक स्टार्टअप खोलना है। वह इतना पैसा कमाने के बाद भी बच्चों को पढ़ाने में व्यस्त हैं, जैसे एक नियमित शिक्षक। Sridhar Vembu आज लाखों लोगों के लिए एक प्रस्ताव है। उनकी मेहनत ने सफलता की कहानी लिखी है। उनका दावा है कि क्षमता हो तो कोई छुट्टी दूर नहीं है।

गांव के लोगों के लिए कुछ करने का फैसला

करोड़ों रुपये की कंपनी बनाने के बावजूद श्रीधर वेम्बु ने अपने गांव के लोगों के लिए कुछ करने का फैसला किया। आज वे गांव में शिक्षा को बढ़ावा देने में लगे हैं। वे अपने बच्चों को मुफ्त में पढ़ा रहे हैं, ताकि वे अपने जीवन को बेहतर बना सकें। उनका लक्ष्य है कि लोगों को काबिल बनाने के लिए गांव के स्कूलों में स्टार्टअप खोलें। वे इतने पैसे कमाने के बाद भी बच्चों को शिक्षित करने में लगे हुए हैं, जैसे कि आम शिक्षक करते हैं।

और पढ़ें:- Aman Gupta Biography: कौन हैं “BOAT” को बनाने वाले यह शख्स? उनकी जीवनी विस्तार से जानें

और पढ़ें: भारतीय Chutnefy: ₹50 लाख प्रतिमाह कमाकर विदेश में बनी Indian Chutnefy!

और पढ़ें:- Karachi to Noida: सीमा हैदर और सचिन की रोमांटिक कहानी ‘Karachi to Noida’ पर सिल्वर स्क्रीन पर आएगी; शूटिंग दिल्ली में होगी

और पढ़ें:- Sourav Joshi: Monthly Income, Lifestyle, Car collection, Girlfriend | PrajapatiNews25

और पढ़ें:- “Kiwi Wine Business” से सरकारी नौकरी छोड़कर कमाए सालाना 12 करोड़ रुपए की रेवेन्यू

About The Author

3 thoughts on “Sridhar Vembu: नौकरी छोड़कर अपना व्यवसाय शुरू किया! आज वो Zoho Corp के फाउंडर और हैं करोड़ों के मालिक

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *