Attero Success Story: देखिये कूड़ेदान से सोना बनाकर खड़ी की 300 करोड़ की कंपनी, जानिए कैसे?

4
Attero Success Story

Attero Success Story

Attero Success Story: Startups की दुनिया में हर दिन नए उद्यम अपनी सफलता के कारण उभरते रहते हैं। हम आज आपके सामने एक नवोदित उद्यम की कहानी लेकर आये हैं, जो अपने नवीन विचारों से 300 करोड़ रुपये का मूल्य बना चुका है।

साथ ही, इनके इस उद्यम की मदद से हमारे समाज पर बहुत अच्छा प्रभाव पड़ा है, जिससे बहुत से लोग इस उद्यम की प्रशंसा करते हैं। हम बात कर रहे हैं Attero नामक एक नवोदित उद्यम की, जो नॉएडा में स्थापित है. उनका मुख्य लक्ष्य इलेक्ट्रॉनिक कूड़ा या कीमती धातु को निकालना है।

Attero Success Story
———- Attero Success Story

यहाँ खराब पड़े हुए लैपटॉप, फोन और टैबलेट को इलेक्ट्रॉनिक कूड़ा कहा जाता है। चलिए जानते हैं कि इस छोटे से उद्यम ने किस तरह शुरूआत की और आज 300 करोड़ रुपये का हो गया है।

Attero के फाउंडर हैं – Attero Success Story

Attero Startup को भारत के Nitin Gupta और Rohan Gupta ने 2008 में शुरू किया था। Rohan Gupta इंजीनियरिंग में ग्रेजुएट हैं और Nitin Gupta London Business School से MBA ग्रेजुएट हैं। दोनों ने इस उद्यम को शुरू करने का फैसला किया जब भारत का विश्वव्यापी ई-waste में बड़ा योगदान था।

Based InNoida, India
When StartedIn 2008
Startup NameAttero Recycling
Official Websitehttps://attero.in/
FounderRohan Gupta & Nitin Gupta
FY22 Revenue214 Crore

साथ ही, उस समय भारत में लैपटॉप और मोबाइल फोनों की मांग बढ़ती जा रही थी, इसलिए ई-waste भी बढ़ता जा रहा था। दोनों ने इसे देखते हुए एट्रो को शुरू किया ताकि वे ई-कूद से पैसे कमा सकें और हमारे वातावरण को भी बचाएं।

वर्तमान में, Attero कई धातुओं (सोना, चांदी, एलुमिनियम, तांबा) को उनके कूड़े से निकालते हैं, जैसे कि laptops, mobile phones, televisions, tabletes और refrigerators।

Attero Success Story
———— Attero Success Story

क्या Li-ion Battery भी Recycle करती है?

धीरे-धीरे, दोनों फाउंडर नितिन और रोहन ने ली-आयन बैटरी को रीसायकल करने के लिए विभिन्न तरीकों की खोज करना शुरू कर दिया. वे ई-waste व्यापार में बढ़ते हुए अवसरों को देखते हुए। इसलिए, जब उनका अध्ययन कुछ समय बाद सफल हो गया, तो 2019 में उन्होंने लियोन बैटरीज को भी रीसायकल करना शुरू कर दिया।

E-waste में ली-आयन बैटरीज की बहुत कमी होती है, और Attero के रीसायकल प्रोसेस के बाद, ली-आयन बैटरीज कंपनी को बहुत फायदा पहुंचा रहे हैं।

Attero Success Story
————- Attero Success Story

38 Patent करवाए है कंपनी ने: Attero Success Story

आपको बता दें कि एट्रो ने अपनी 38 तकनीकों को आने वाले चुनौतियों को टैकल करने के लिए पेटेंट भी करवाए हैं, ताकि कोई भी उनकी तकनीक को चोरी नहीं कर सकता। Attero एक बिलकुल नई तकनीक का इस्तेमाल करते हुए Li-ion बैटरी को रीसायकल करने का प्रक्रिया भी पपेट कर चुका है।

Company ने कमाए 300 करोड़ रुपये 

Inc42 की रिपोर्ट के अनुसार, Attero वर्तमान में लाभदायक व्यवसाय हैं, जिसने पिछले FY22 में 40 करोड़ रुपए का प्रॉफिट और लगभग 214 करोड़ रुपए का रेवेन्यू बनाया था।

ये प्रोडक्ट्स कंपनी बनाती है

Attero डोमेस्टिक और अंतर्राष्ट्रीय बाजार में अपने उच्च गुणवत्ता वाले उत्पादों को बेचती है, जिनमें 99 प्रतिशत शुद्ध कोबोल चिप्स और फार्मास्यूटिकल श्रेणी के लिथियम कार्बन उत्पाद शामिल हैं।

साथ ही, उनके ग्राहक उनके उत्पादों से बहुत खुश हैं और सभी के रिव्यू बहुत अच्छे हैं।

आम प्रश्न: Attero Success Story

भारत में रीसाइक्लिंग में सबसे बड़ी कंपनियां कौन सी हैं?

Attero भारत की सबसे बड़ी रीसाइक्लिंग कंपनी है, जिसने देश में ई-कूद को पुनःप्रयोग करने में महत्वपूर्ण योगदान दिया है।

Attero कंपनी का स्थान क्या है?

Attero Company का मुख्यालय नॉएडा, भारत में है।

हम आशा करते हैं कि आप इस लेख से Attero Business के बारे में अधिक जानते हैं. अगर आपको इनकी कहानी पसंद आई, तो कृपया इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें। prajapatinews25.com नामक हमारी वेबसाइट पर ऐसे ही लेख पढ़ने के लिए जुड़े रहे।

Also Read: डायरेक्ट सेलिंग का फ्यूचर क्या है 2025: Direct Selling ka future kya hai 2025?

Also Read: Ram Mandir Budget By Government: सरकार द्वारा राम मंदिर बजट 2023 

Also Read: Navalben Chaudhary Story: 62 साल की उम्र में दूध का डेरी खोल कर, कड़ी की करोड़ो का बिज़नेस 

About The Author

4 thoughts on “Attero Success Story: देखिये कूड़ेदान से सोना बनाकर खड़ी की 300 करोड़ की कंपनी, जानिए कैसे?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *